ये हैं बॉलीवुड की 5 फिल्में जिनमें भारत-पाक की टेंशन के बीच दिखी बेपनाह मोहब्बत

भारत और पड़ोसी देश पाकिस्तान के रिश्तों के बीच इन दिनों काफी कड़वाहट देखने को मिल रही है.

हालांकि भारत-पाकिस्तान के रिश्तों पर आधारित कई फिल्में भी बॉलीवुड में बन चुकी है. इन दोनों देशों के बीच भले ही माहौल कितना भी तनावपूर्ण क्यों न हो लेकिन फिल्मों में अक्सर दोनों देशों के बीच हिन्दू मुस्लिम प्रेम कहानी को दिखाने की कोशिश की जाती रही है.

आज हम आपको बताने जा रहे हैं भारत-पाकिस्तान के संबंधों पर आधारित ऐसी ही 5 फिल्मों के बारे में, जिनमें दोनों देशों की दुश्मनी के बीच हिन्दू मुस्लिम प्रेम कहानी को बड़ी ही खूबसूरती से पेश किया गया है.

1- पीके

आमिर खान की फिल्म ‘पीके’ में एक ओर जहां आमिर एक एलियंस का किरदार निभाते नज़र आए तो वहीं अनुष्का शर्मा और सुशांत सिंह राजपूत के बीच लव स्टोरी को बेहद खूबसूरती से दिखाया गया है.

इस फिल्म में सरफराज का किरदार निभानेवाले सुशांत सिंह राजपूत ने एक पाकिस्तानी लड़के का किरदार निभाया है तो वहीं अनुष्का ने एक हिंदुस्तानी लड़की की भूमिका अदा की है.

Pk

2- एक था टाइगर

फिल्म ‘एक था टाइगर’ में भारत-पाक के दुश्मन एजेंसियों के टाइगर और जोया के बीच प्रेम कहानी को पर्दे पर दिखाया गया है. इस फिल्म में टाइगर बने सलमान और जोया बनी कैटरीना कैफ की दोनों देश मिलकर तलाश करते हैं.

Ek tha tiger

3 – वीर जारा

फिल्म ‘वीर जारा’ में हिंदू एयरफोर्स पायलट वीर बने शाहरुख खान को पाकिस्तानी चुलबुली लड़की जारा का किरदार निभानेवाली प्रीति जिंटा से प्यार हो जाता है.

इस प्रेम कहानी में सरहद की दीवार बीच में आ जाती है और 22 साल पाकिस्तान की जेल में रहने के बाद वीर का मिलन जारा से हो पाता है.

Veer Zara

4 – गदर, एक प्रेम कथा

सन 1947 के भारत-पाक बंटवारे पर आधारित फिल्म ‘गदर-एक प्रेम कथा’ में तारा सिंह बने सनी देओल को सकीना बनी अमीषा पटेल से प्यार हो जाता है.

दोनों एक-दूसरे से शादी भी कर लेते हैं लेकिन शादी के बाद दोनों को सकीना के पिता अलग करने की काफी कोशिश करते हैं. पर आखिर में जीत दोनों के प्यार की ही होती है.

gadar

5 – हिना

फिल्म ‘हिना’ में ऋषि कपूर श्रीनगर में हादसे का शिकार हो जाते हैं और पाकिस्तान पहुंच जाते हैं, जहां उनकी याददाश्त चली जाती है और उन्हें पाकिस्तानी लड़की हिना यानी जेबा बख्तियार से प्यार हो जाता है.

लेकिन इस कहानी में सियासी मोड़ आ जाता है. आखिर में हिना की मौत हो जाती है और दोनों की ये प्रेम कहानी सफल नहीं हो पाती है.

henna

गौरतलब है कि इन पांच फिल्मों के अलावा भी बॉलीवुड की कई और ऐसी फिल्में हैं जिनमें भारत-पाकिस्तान के रिश्तों की कड़वाहट के साथ ही दोनों देशों के बीच हिन्दू मुस्लिम प्रेम कहानी को दिखाने की कोशिश की गई है.

 

मोदी ने बुलाई हाई लेवल मीटिंग ! पाकिस्तान को खत्म करने का बना लिया है यह प्लान !

पिछले 10 दिनों में पाकिस्तान कुछ 22 बार सीजफायर को तौड़ चुका है.

पाकिस्तान से सटे भारतीय इलाके सांबा, राजौरी, अरनिया और नौशेरा में पाकिस्तान बार-बार गोलाबारी कर रहा है.

पाकिस्तान पहले इन जगहों पर हल्की गोलाबारी करता है और फिर अचानक से ही मोर्टार से गोले दागने लगता है. इस तरह की गोलाबारी में अब मासूम लोगों की जान जाने लगी है. अभी तक कुछ 10 भारतीय नागरिक पाकिस्तान की गोलाबारी में मर चुके हैं.

वहीँ भारत की सेना भी पाकिस्तान को मुंहतोड़ जवाब दे रही है.

कुछ ही दिन पहले भारत की सेना ने पाकिस्तान की 14 चौकियों को घ्वस्त कर दिया था. कई पाकिस्तानी सैनिक भी सेना की गोलाबारी का शिकार हो चुके हैं. लेकिन उसके बावजूद भी पाकिस्तान मानने का नाम नहीं ले रहा है. दिल्ली के अन्दर पाकिस्तान के मुद्दे पर प्रधानमंत्री मोदी ने एक हाई लेवल मीटिंग की है.

सूत्रों की मानें तो इसके अन्दर सभी सेना के बड़े अफसर, देश के गृहमंत्री और रक्षा मंत्री मौजूद थे.

तो आइये पढ़ते हैं कि क्या-क्या इस मीटिंग में तय किया गया है – कैसे पाकिस्तान को खत्म करने का प्लान बना लिया गया –

पाकिस्तान को खत्म करने का प्लान –

PM Meeting

खुद मोदी ने सभी को ब्रीफ किया –

सूत्रों से आ रही खबरों के अनुसार प्रधानमंत्री मोदी, पाकिस्तान की तरफ से हो रही फायरिंग से बेहद खफा हैं.

पीएम मोदी नहीं चाहते हैं कि युद्ध जैसी स्थिति बने और दोनों तरफ से मौतों का सिलसिला शुरू हो जाये. लेकिन पाकिस्तान जिस तरह की हरकत कर रहा है उसको लेकर मोदी गंभीर हैं. भारतीय सेना को पाक की फायरिंग का अनुकूल जवाब देने की बात भी मोदी ने बोली. मोदी पाकिस्तान को इस बार सही जवाब देना चाहते हैं.

मोदी ने तय कर लिया है कि बार-बार का यह झगड़ा शायद अब खत्म करने का वक्त आ गया है.

मोदी पाकिस्तान को पानी के लिए तरसाने वाले हैं –

सूत्रों के हवाले से आ रही खबरों के अनुसार नरेन्द्र मोदी ने इस हाई लेवल मीटिंग में जो मुख्य बात रखी है वह यही है कि पाकिस्तान से सभी तरह के रिश्ते खत्म करते हुए अब उनको दिए जाने वाला पानी भी रोका जा सकता है.

मोदी अब पाक को एक-एक बूंद पानी के लिए तरसाने वाले हैं.

जब सेना को पानी का अर्थ मालूम चलेगा तो उसको मालूम होगा कि उसका पड़ोसी उसके लिए कितना जरुरी है.

मोदी ने भारतीय गावों को खाली कराने का फरमान सुनाया –

जिस तरह से पाकिस्तान से सटे गाँवों में मासूम भारतीय गाँव वालों की जान जा रही है उसको लेकर मोदी चिंतित हैं और उन्होंने सभी को साफ़ बोल दिया है कि सभी गाँवों को खाली कराया जाए और इन लोगों को जो भी मदद चाहिए हो वो इनको जल्द से जल्द मुहैया कराई जाए. लेकिन पाकिस्तान की फायरिंग में इन लोगों की जान अब नहीं जानी चाहिए.

इन लोगों के लिए मौसम के हिसाब से सुरक्षित ठिकाने बनाये जाये और इन गाँव वालों को वहां जल्द से जल्द शिफ्ट कर दिया जाये.

तो पाकिस्तान को अब मिलने वाला है कड़ा जवाब –

इस बार पीएम मोदी ने पाकिस्तान को कड़ा जवाब देने के लिए अपनी कमर कस ली है. पाकिस्तान को चारों तरफ से घेरकर मारने की तैयारी हो चुकी है. पहले पानी और उसके बाद अंतर्राष्ट्रीय मंच पर पाक को नंगा करने का प्लान बन चुका है. गोली का जवाब अब गोली से दिया जायेगा और मिसाइल का जवाब भी उसी की भाषा में दिया जायेगा. इस हाई लेवल मीटिंग में गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने भी सभी को अपना सीक्रेट प्लान बताया और उसके ऊपर सभी की सहमती भी बन गयी है. पाकिस्तान को इस बार हैरान और चकित करने का प्लान बनाया गया है. पाक के साथ-साथ चीन को भी कड़े शब्दों में जवाब देने पर भी बातचीत की गयी है.

तो कुलमिलाकर इस हाईलेवल मीटिंग में पाकिस्तान को खत्म करने का प्लान बना लिया है. पाक की चारों तरफ से इस तरह से घेरकर मारने का प्लान है कि फिर उसके बाद कभी वो जवाब देने की स्थिति में ना बने. साथ ही साथ कुछ भारतीय लोग और संस्थाओं को भी पहचाना जा रहा है जो भारत में रहकर पाक की मदद कर रहे हैं.

ये है पाकिस्तान को खत्म करने का प्लान !

पाकिस्तानी सीजफायर में देश का एक और जवान शहीद; क्या अब पाकिस्तान से युद्ध ही है एक मात्र विकल्प?

पाकिस्तान की ओर से सोमवार को एलओसी पर पुंछ और रजौरी जिलों में लगातार फायरिंग जारी है। पाकिस्तानी सैनिकों ने सोमवार को जम्मू-कश्मीर के पुंछ और रजौरी जिलों में नियंत्रण रेखा पर गोलियां एवं गोले बरसाकर सीजफायर का उल्लंघन किया है। इस हमले में सेना का एक जवान शहीद हो गया।

प्राप्त ख़बर के अनुसार, पाकिस्तान के सीजफायर का जवाब देते हुए रजौरी में सेना का एक जवान शहीद हो गया है। इस फायरिंग में सेना के दो जवान घायल भी हो गए हैं।

ऑटोमैटिक हथियारों से की फायरिंग –

सेना के एक अधिकारी ने बताया कि, सोमवार सुबह से ही जम्मू-कश्मीर के मेंढर के बालाकोट और मनकोट इलाके में पाकिस्तान ने सीजफायर का उल्लंघन किया। इस बार ना पाक पाकिस्तानी सैनिकों ने मोर्टार के गोले और स्वचालित हथियार हमारी पोस्ट और नागरिक के रहने वाले क्षेत्रों में फेंके।

गौरतलब है कि आर एस पुरा में सीमा से सटे ज्यादातर गांवों के नागरिको के पहले ही सुरक्षित जगहों पर पहुचाँया जा चुका था लेकिन जो नहीं गए वो फायरिंग की दहशत के बीच ही गांव में रह रहे हैं।

 

भारतीय सेना की ओर से मुंहतोड़ जवाब –

सेना के एक अधिकारी ने बताया कि, भारतीय सैनिक इस गोलीबारी का उचित एवं करारे ढंग से जवाब दे रहे हैं। भारतीय सेना ने पाकिस्तान की तरफ से हुई फायरिंग का भी मुंहतोड़ जवाब दिया। हालांकि, रात करीब 08.30 बजे के बाद किसी तरह की फायरिंग की खबर नहीं है।

हीरानगर में भी संदिग्ध गतिविधियां देखे जाने पर करीब 07.30 बजे भारत की तरफ से कुछ देर फायरिंग की गई थी। ऐसा माना जे रहा है कि पाकिस्तान कि तरफ से यह फायरिंग आतंकवादी गतिविधियों को छिपाने के लिए कि गई।

इन हमलों में अंतरराष्ट्रीय सीमा के पास स्थित सांबा, कठुआ और जम्मू जिलों को निशाना बनाया गया, जिसके कारण बीएसएफ को जवाबी कार्रवाई करनी पड़ी।

अब तक 8 जवान शहीद

पाक अधिकृत कश्मीर में आतंकी ठिकानों के खिलाफ भारतीय सेना द्वारा किए गए सर्जिकल हमलों के बाद से अब तक नियंत्रण रेखा और अंतरराष्ट्रीय सीमा पर पाकिस्तानी सैनिकों की ओर से 60 से ज्यादा संघर्षविराम उल्लंघन किया जा चुका है।  

आपको बता दे कि सीमापार से घुसपैठ रोकते हुए अब तक 8 भारतीय जवान (आर्मी के 4-बीएसएफ के 4) शहीद हो चुके हैं।

 

जम्मू: आरएस पुरा में 23 घंटे से फायरिंग, BSF ने ढेर किए 3 पाक सैनिक

जम्मू-कश्मीर में पाकिस्तान की तरफ से एक बार फिर सीजफायर का उल्लंघन किया गया है. मंगलवार रात आरएसपुरा सेक्टर और अरनिया में ये फायरिंग हुई है. इस फायरिंग को 20 घंटे से ज्यादा का समय हो गया है. बीएसएफ ने भी पाकिस्तानी रेंजर्स की 5-6 चौकी को पूरी तरह बर्बाद कर दिया है. बीएसएफ के सूत्रों के अनुसार, तीन पाकिस्तान जवान भी मारे गए है |

इस फायरिंग में 11 नागरिकों के घायल होने की भी खबर है. कुछ घर भी क्षतिग्रस्त हुए हैं.

पाकिस्तान के सिविल एरिया और कई पोस्ट्स पर भारी नुकसान होने की खबर है, सीमापार से लगातार मोटार्र दागे जा रहे हैं. छोटे हथियारों के अलावा 82 एमएम और 120 एमएम के मोर्टार गोलों का इस्तेमाल किया जा रहा है !

सेना के एक अधिकारी ने कहा कि पाकिस्तान की सेना ने राजौरी जिले के नौशेरा सेक्टर में नियंत्रण रेखा के पास सुबह 10 बजे से बिना उकसावे के संघर्ष विराम का उल्लंघन किया और हमारी चौकियों को निशाना बनाकर मोर्टार दागे और छोटे हथियारों से गोलीबारी की. उन्होंने कहा कि पाकिस्तान की ओर से किए जा रहे संघर्ष विराम उल्लंघन का भारतीय सेना मुंहतोड़ जवाब दे रही है !

सेना के एक अधिकारी ने कहा, ‘हमें जानकारी मिली है कि हमारे सैनिकों की जवाबी गोलीबारी में दो से तीन पाकिस्तानी जवान मारे गए हैं.’ गोलीबारी अब भी चल रही है. एक मोर्टार आरएसपुरा के सुचेतगढ़ सेक्टर के एक घर पर जा गिरा जिससे उसमें रहने वाले एक परिवार की छह महिला सदस्य घायल हो गईं !

मारा गया लश्कर का डिवीजनल कमांडर अबु साद

सुरक्षाबलों के लिए दो साल से सिरदर्द बना लश्कर-ए-तैयबा का डिवीजनल कमांडर अबु साद सोमवार को उत्तरी कश्मीर के लोलाब (कुपवाड़ा) में हुई मुठभेड़ में मारा गया, लेकिन उसके अन्य साथी बच निकले। उनकी धरपकड़ के लिए सुरक्षाबलों ने मुठभेड़स्थल के आसपास के इलाके में घेराबंदी कर तलाशी अभियान जारी रखा हुआ है। इस बीच आतंकी साद के जनाजे में अलगाववादी समर्थकों ने शामिल होकर आजादी व जिहाद समर्थक नारेबाजी की। इस दौरान पुलिस और आतंकी समर्थक भीड़ के बीच हिंसक झड़पें भी हुईं।

जानकारी के अनुसार रविवार देर रात पुलिस को अपने तंत्र से पता चला कि लश्कर का डिवीजनल कमांडर अबु साद एलओसी (नियंत्रण रेखा) के साथ सटे लोलाब के सिवर गांव में छिपा हुआ है। यह गांव कवारी-बरनो जंगल के साथ सटा हुआ है। पहली बार सीमा की 15 चौकियां महिलाओं के हवाले 2014 में गुलाम कश्मीर से जम्मू कश्मीर में दाखिल हुए साद का पता चलते ही सेना और राज्य पुलिस के विशेष अभियान दल के जवानों के एक संयुक्त दस्ते ने सीवर गांव का रुख किया। रात दो बजे जवानों ने आतंकी के संभावित ठिकानों की निशानदेही करते हुए घेराबंदी शुरू कर दी। साद गांव के बाहरी छोर पर जंगल के साथ सटे एक ढोक (कच्चा कुल्ला) में छिपा हुआ था। यह ढोक अब्दुल नजार नामक एक ग्रामीण की है और उसने ठंड बढ़ने के साथ ही उसे कुछ समय पहले खाली कर दिया था।

सुबह पांच बजे जवानों ने उस ढोक को घेर लिया, जहां साद अपने साथियों संग छिपा था। जवानों को अपने ठिकाने की तरफ आते देख आतंकियों ने फायरिंग शुरू कर दी। जवानों ने भी अपनी पोजीशन ली और जवाबी फायर किया। सुबह आठ बजे तक जारी रही मुठभेड़ में साद मारा गया, लेकिन उसके अन्य साथी वहां से बच निकले। उनकी तलाश की जा रही है।

मारे गए आतंकी के पास से एक असाल्ट राइफल, तीन मैगजीन, एक रेडियो सेट और एक पाउच भी मिला है। इस बीच मुठभेड़ की सूचना मिलते ही बड़ी संख्या में ग्रामीणों ने मुठभेड़ स्थल की तरफ उत्तेजक नारेबाजी करते हुए मार्च किया। पुलिस द्वारा रोके जाने पर लोग हिंसा पर उतर आए। इस पर पुलिस ने भी बल प्रयोग किया और हालात पर काबू पाया। मारे गए आतंकी का शव पोस्टमार्टम के बाद पुलिस ने स्थानीय लोगों के हवाले कर दिया। उसे आजादी समर्थक नारेबाजी के बीच लोगों ने सुपुर्द ए खाक किया। पाकिस्तान ने अंतरराष्ट्रीय सीमा पर की गोलाबारी, बीएसएफ जवान शहीद

पाकिस्तान के विरुद्ध इस हिंदुस्तानी लड़की ने पाकिस्तान को दिया मुह तोड़ जवाब

आज कल भारतीय लोगों के मन में पाकिस्तान को लेकर जो नफरत दिखाई देती है उसे देख कर ये कहा जा सकता है कि ये नफरत अब शायद कभी खत्म नहीं होगी . पर बरहलाल दोनों मूल्कों को लेकर आये दिन कोई न कोई बवाल मचा ही रहता है . खास कर मीडिया में जहाँ आज कल केवल इसी मुद्दे पर चर्चा सुनाई देती है . सिर्फ इतना ही नहीं कभी कभी तो दुश्मन मूल्क की तरफ से धमकी भरे खत और धमकी भरे ब्यान या कभी तो धमकी भरे विडियो भी मिलते ही रहते है पर इस बार एक भारतीय लड़की ने पाकिस्तान के लिए विडियो बनाया है या यू कहा जाये कि पाकिस्तान को जवाब देने वाला विडियो बनाया है .

एक हिंदुस्तानी लड़की ने पाकिस्तान को दिया मुह तोड़ जवाब .. 

ये विडियो सोशल मीडिया पर भी काफी वायरल हो रहा है . इस विडियो में इस लड़की की देश भक्ति साफ़ दिखाई देती है क्योंकि इसने पाकिस्तान के विरुद्ध जो भी कहा है वो एक कविता के जरिया कहा है और अगर आप भी इसकी कविता को सुनेगे तो आपको भी गर्व होगा .

इस लड़की के शब्द पाकिस्तान के लिए किसी बंदूक से निकली हुई गोली से कम नहीं है . हम जानते है आप भी ये विडियो देखना और सुनना चाहते है तो लीजिये आप भी सुनिये इस निडर लड़की का ये विडियो जिसने कविता के कुछ शब्दो से ही पाकिस्तानियो को मुह तोड़ जवाब दिया है.

भारतीय सेना ने पाकिस्तान की एक और नापाक कोशिश को किया नाकाम

पाकिस्तानी सेना ने एक बार फिर से सीज फायर का उलंघन करते हुए भारतीय जवानों पर गोलियां दागी है। भारतीय सेना के जवानों ने बड़े ही बहादुरी से पाकिस्तानी रेंजर्स का जवाब दिया और 6 पाकिस्तानी रेंजर्स को मार गिराया है। सूत्रों के अनुसार पाकिस्तानी रेंजर्स ने एक बार फिर जम्मू- कश्मीर में सीज फायर का उलंघन करते हुए भारतीय जवानों पर ताबड़तोड़ फायरिंग शुरू कर दी।

मिली जानकारी के अनुसार भारत की जवाबी कार्यवाई से पाकिस्तान सेना को बहुत ज्यादा नुकसान हुआ है। कश्मीर के हीरानगर सेक्टर में शुक्रवार को पाकिस्तानी सेना ने एक बार फिर से सीज फायर का उलंघन करते हुए भारतीय सेना पर गोलियां चलाई। हीरानगर की बोबिया पोस्ट पर शुक्रवार को पाकिस्तान की तरफ से पहले फायरिंग की शुरुआत की गई, फायरिंग का जवाब देने के लिए बीएसएफ के जवानों ने गोलियां दागी, जिससे पाकिस्तान के 6 रेंजर्स मारे गए। भारत की तरफ से किसी के मारे जाने की खबर नहीं है, हालांकि एक बीएसएफ का जवान गोलीबारी से घायल हो गया था।

सर्जिकल स्ट्राइक के बाद से बौखलाया है पाकिस्तान:

जब से पाकिस्तान के POK में भारतीय सेना ने घुसकर सर्जिकल स्ट्राइक करके पाकिस्तान में छुपे हुए कई आतंकियों को मारा है, तब से पाकिस्तान पूरी तरह बौखलाया हुआ है। पाकिस्तानी सेना के जवान और वहाँ के आतंकी बस ताक में बैठे हुए हैं कि किसी तरह से कोई मौका मिले और भारत पर हमला कर दिया जाए। अब तक पाकिस्तानी सेना के जवानों ने 25 से ज्यादा बार सीज फायर का उलंघन किया है और लगातार करते जा रहे हैं। आखिर पाकिस्तानी सेना के जवान कब समझेंगे कि इस तरह से हमला करने से भारत का कुछ नहीं होने वाला है। ऐसे छुपकर किये जा रहे हमले का जवाब देने के लिए भारतीय सेना पूरी तरह से तैयार बैठी हुई है।

बलूचिस्तान की महिलाओं का दर्द – विडियो

भारत का हर नागरिक आज बलूचिस्तान की बुरी स्थिति से अच्छी तरह वाकिफ है ।  दशकों से पाकिस्तान के सेना वहाँ के लोगों पर ज़ुल्म कर रही है । एक हँसते खेलते देश को पाकिस्तानी हुकूमत और सेना ने नर्क समान बना दिया है ।

बलूचिस्तान में महिलाओं का हाल तो और भी बदतर हैं । सेना ने सैकड़ों महिलाओं का रेप किया है और सरकार ने उन्हे कोई भी न्याय नहीं दिया । आइये जानते हैं उनका दुख और दर्द उनही की जुबानी

 

पाकिस्तान को अब अपनी गुलामी का डर सताने लगा है !

पाकिस्तान योजना आयोग के सचिव युसुफ नदीम खोकर ने जब पाक सांसदों को यह बताया कि सीपीईसी यानी चीन पाकिस्तान आर्थिक गलियारे में चीनी निवेश की बजाय ज्यादातर स्थानीय संसाधनों का ही इस्तेमाल किया जा रहा है तो सांसदों के होश उड़ गए.

उनको लगता है कि जिस प्रकार विश्व के हालात उसके विपरीत जा रहे हैं और पाकिस्तान में चीन का दलख दिन ब दिन बढ़ता जा रहा है उसको देखते हुए कहीं पाकिस्तान को अपने कब्जे में लेने की ड्रैगन कोई चाल तो नहीं.

भारत को काउंटर करने के लिए पाकिस्तान की चीन पर बढ़ती निर्भरता को लेकर वहां के कई सांसदों ने सरकार को आगाह किया है कि यदि देश के हितों की रक्षा नहीं की गई तो 46 अरब डॉलर की लागत वाला चीन पाकिस्तान आर्थिक गलियारा (सीपीईसी) एक और ईस्ट इंडिया कंपनी में तब्दील हो सकता है. क्योंकि सीपीईसी को लेकर चीन से जो भी कर्ज लिया गया है, वह पाकिस्तान की गरीब जनता से वसूला जाएगा. मालूम हो कि ईस्ट इंडिया कंपनी भी भारत में इसी प्रकार करती थी. वह अपनी व्यापारिक जरूरतों को पूरा करने के लिए जो भी खर्च करती थी या सड़कों, रेल मार्गों के विकास के नाम पर जो भी कर्ज लेती थी उसको भारत की गरीब जनता से ही वसूला जाता था.

योजना एवं विकास पर सीनेट स्थायी समिति के अध्यक्ष एवं सीनेटर ताहिर मशादी ने कहा है, चीन पाकिस्तान आर्थिक गलियारा के रूप में एक और ईस्ट इंडिया कंपनी तैयार है. राष्ट्रीय हितों की हिफाजत नहीं की जा रही. हमें पाकिस्तान और चीन के बीच दोस्ती पर गर्व है लेकिन देश का हित पहले हैं.

अग्रेंज जिस प्रकार ईस्ट इंडिया कंपनी बनाकर भारत में दाखिल हुए थे और उन्होंने बाद में मनमानी व्यापारिक शर्ते थोपकर पूरे भारत वर्ष को अपने कब्जे में ले लिया था, उसी प्रकार चीन भी पाकिस्तान को अपने चंगुल में फंसा रहा है.

गौरतलब है कि ईस्ट इंडिया कंपनी ब्रिटिश व्यापारिक कपंनी थी जो भारत भेजी गई थी. शुरूआत में भारतीय उपमहाद्वीप में औपनिवेशिक शासन का मार्ग प्रशस्त करने के लिए अंग्रेजो ने समुद्री नगरों के किनारे पर सुरक्षा चोकी बनाकर व्यापार करना प्रारम्भ किया था. जिस प्रकार आज पाकिस्तान में ग्वादर पोर्ट बनाकर चीन कर रहा है.

चीनी कंपनी जिस प्रकार सीपीईसी से जुड़ी बिजली परियोजनाओं के लिए बिजली दर तय कर रही है उसने पाकिस्तान में लोगों को चिंता में डाल दिया है. पाक योजना आयोग के सचिव युसुफ नदीम खोकर ने जब समिति को यह बताया कि सीपीईसी में चीनी निवेश की बजाय ज्यादातर स्थानीय संसाधनों का ही इस्तेमाल किया जा रहा है तो सांसदों के होश उड़ गए.

पाकिस्तान भले ही चीन-पाकिस्तान आर्थिक गलियारे को लेकर बड़े-बडे दावे कर रहा हो लेकिन नवाज के सांसदों का मानना है कि अगर देश हित की रक्षा नहीं की गई तो यह सीपीईसी पाक के लिए तरक्की नहीं बल्कि तबाही का गलियारा बन सकता है.

पाकिस्तान हमारा पक्का दोस्त: चीन

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के पाकिस्तान को ‘आंतकवाद की जननी’ कहने के एक दिन बाद ही चीन पाकिस्तान के बचाव में आ गया.

समाचार एजेंसी पीटीआई के अनुसार, चीन ने दृढ़ शब्दों में कहा कि वो किसी भी देश या धर्म को आंतकवाद से जोड़ने के ख़िलाफ़ है. चीन ने विश्व समुदाय से पाकिस्तान के ‘महान बलिदानों’ को स्वीकार करने का आह्वान भी किया.

गोवा में ब्रिक्स सम्मेलन के दौरान प्रधानमंत्री मोदी की पाकिस्तान के बारे की गई टिप्पणी पर पूछे गए सवाल के जवाब में चीन के विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता हुआ चुनयिंग ने ये प्रतिक्रिया दी.

उन्होंने कहा कि चीन किसी भी देश को आतंकवाद से जोड़ने के ख़िलाफ़ है.

भारत के ख़िलाफ़ आंतकवादी संगठनों को आर्थिक मदद और बढ़ावा देने के मुद्दे पर मोदी की पाकिस्तान की आलोचना पर चुनयिंग ने कहा ”आतंकवाद का मुक़ाबला करने के मुद्दे पर चीन का रुख एक जैसा रहा है.”

उन्होंने कहा, “ठीक उसी तरह चीन किसी देश को आंतकवाद से जोड़ने के विरोध में है. हम आतंकवाद के हर रूप का विरोध करते हैं और मानते हैं कि सभी देशों में स्थिरता और सुरक्षा के लिए अंतरराष्ट्रीय स्तर पर ठोस प्रयासों की ज़रूरत है.”

उन्होंने कहा, ”हम किसी भी जाति या धर्म से आतंकवाद को जोड़ने का विरोध करते हैं. हमारा लंबे समय से यही रुख़ रहा है. चीन और पाकिस्तान पक्के दोस्त हैं.”

चुनयिंग ने कहा कि भारत और पाकिस्तान दोनों ‘आतंकवाद से पीड़ित’ हैं. उन्होंने कहा, “इस्लामाबाद ने आंतकवाद का मुक़ाबला करने के लिए महान बलिदान किए हैं और अंतरराष्ट्रीय समुदाय को इसे स्वीकार करने की ज़रूरत है.”