100 साल बाद बना है इस करवा चौथ पर ये बेहद फलदाई संयोग !

पति की लंबी उम्र और सेहत के लिए वैसे तो हर साल महिलाएं करवा चौथ के पर्व को बड़े ही धूमधाम से मनाती हैं, लेकिन इस बार करवा चौथ का व्रत सुहागिन महिलाओं के लिए विशेष फलदायी साबित होनेवाला है क्योंकि करीब 100 साल बाद करवा चौथ पर खास संयोग बन रहा है.

KARVA

इस वर्ष करवा चौथ पर खास संयोग –

100 साल बाद बना करवा चौथ पर खास संयोग

इस बार करवा चौथ पर रोहिणी नक्षत्र, बुधवार का दिन, सर्वार्थ सिद्धि योग और गणेश चतुर्थी का संयोग बन रहा है. ज्योतिष शास्त्र के मुताबिक यह संयोग बेहद शुभ फलदायी माना जाता है.

इस दिन गणेश जी की पूजा का खास महत्व होता है. बात करें ग्रह नक्षत्रों की तो इस दिन चंद्रमा शुक्र की राशि वृष में उच्च के होंगे. बुध अपनी ही राशि कन्या में होंगे जबकि शुक्र और शनि एक साथ वृश्चिक राशि में विराजमान होंगे.

ज्योतिष शास्त्र के मुताबिक इस बार करवा चौथ का व्रत धारण करने से महिलाओं को 100 व्रतों का विशेष फल प्राप्त होगा. यह करवा चौथ न सिर्फ लंबी उम्र की सौगात देगा बल्कि संतान की कामना करनेवाले दंपत्तियों को संतान का सुख भी देगा.

करवा चौथ पर लग सकता है अपयश

इस बार एक ओर जहां करवा करवा चौथ पर खास संयोग का निर्माण हो रहा है तो वहीं शास्त्रों के अनुसार इस बार चांद को देखना अपयश का कारण भी बन सकता है. शास्त्रों के अनुसार करवा चौथ की तिथि और अपयश में गहरा संबंध बताया जाता है.

शास्त्रों में चतुर्थी तिथि को रिक्ता और खला कहा जाता है. इस दिन यानि चतुर्थी तिथि को शुभ कार्य वर्जित होते हैं.

कहा गया है कि चतुर्थी के दिन चंद्र दर्शन से अपयश और कलंक लग सकता है. खास तौर पर करवा चौथ को चंद्र दर्शन निषेध होता है.

अपयश को दूर करने के उपाय

करवा चौथ के दिन अपयश को दूर करने के लिए सबसे पहले भगवान गणेश के सामने घी का दीपक जलाना चाहिए. फिर उसके बाद लड्डुओं का भोग लगाकर ” वक्रतुंडाय हुं” मंत्र का 108 बार जप करना चाहिए.

फिर तांबे के लोटे में जल भरकर उसमें सफेद फूल डालकर नीची निगाह से चंद्रमा को अर्घ्य देना चाहिए. ऐसा करने से अपयश का दोष भंग हो जाता है, इसलिए महिलाएं इस दिन चंद्रमा को छन्नी या परछाईं में देखती हैं.

ऐसे बनाएं करवा चौथ को बेहद खास

अपने पति की लंबी उम्र के लिए जो महिलाएं करवा चौथ का व्रत करती हैं इससे न सिर्फ उनके पतियों को लंबी उम्र मिलती है बल्कि उन्हें अपने जीवन में किसी भी प्रकार का कष्ट नहीं होता है.

करवा चौथ के दिन भगवान शिव, माता पार्वती, कार्तिकेय, गणेश और चंद्रमा का पूजन किया जाता है. चंद्र उदय के बाद चंद्रमा को अर्घ्य देकर उनकी पूजा करनी चाहिए. पूजा के बाद मिट्टी के करवे में चावल, उड़द की दाल और सुहाग की सामग्री रखकर सास या सास के समकक्ष किसी सुहागिन के पैर छूकर सुहाग सामग्री भेंट करनी चाहिए.

यकीनन इस बार का करवा चौथ उन सभी महिलाओं के लिए यादगार साबित होनेवाला है जो अपने पति के लिए निर्जला व्रत धारण कर रही हैं,  क्योंकि 100 साल बाद बना करवा चौथ पर खास संयोग सभी महिलाओं के लिए खास फलदायक माना जा रहा है.

Karva Chauth: Back Then It Was A Festival To Celebrate The Bond Of Friendship Between The God-Sisters!

Karva Chauth is not exactly how it was in the past.

It is celebrated on the fourth day after the night of the full moon in the month of Karthik.

This festival is so popular that the girls who are unmarried have also adopted this ritual. If I’m not wrong then there are many unmarried ones who fast for their partner.

Whereas the married ones are also full of preparation to celebrate the long-hour fasting day.

Apart from this modern celebration; the originality of Karwa Chauth was completely different.

This festival was earlier started to celebrate the relationship between two women. Earlier, when a girl was married, she was bonded with another woman from her in-laws side and they were then declared as sisters or friends for the entire life. Well, based on the small Hindu ceremony both of ‘em was then the “God-sisters”or “God-friends” for life.

And the relationship for life meant that both of them will have to be together and support each-other if any trouble arises. Well, doesn’t matter if it is related to the in-laws; the relationship between them was something that was promise-able and unbreakable.

Hence, it was always in this manner but later the way of celebration changed and since then it is all about fasting for husbands.

So ladies, what seems easier? Past or Present.

Also, do you have any idea regarding how fasting by women increases the lifespan of husbands?

In reality, fasting improves the body from inside by making the cells, organs and tissues healthier. In short, it highly results into detoxifying the entire body by keeping liver, kidney etc all safe and healthy. The fasting also increases the reproductive longevity and the lifespan of women.

I know, now this might question how does it reflects into increasing the lifespan of husband.

Well, it’s quite simple too- the ancient Indians started this custom of fasting with a great thought. If a reproductive longevity in women increases then it results into increasing the potential for more sexual stamina.

And once the sexual stamina in women increases then this benefit the men and thus it boost up their lifespan entirely. (Smart, isn’t it?)

Therefore based on this logic the concept of fasting during Karva Chauth benefits both of them equally.

Any queries? Leave a comment below.

9 बातें जो आपकी करवा चौथ को हमेशा के लिए यादगार बना देंगी!

करवा चौथ, उत्तर भारत में मनाया जाने वाला एक बड़ा तीज-त्यौहार है.

वैसे बताया जाता है कि करवा चौथ सबसे अधिक राजस्थान में मनाया जाता है. राजस्थान में राजा-महाराजा सबसे अधिक युद्ध में लीन रहते थे और रानियाँ राजाओं की सलामती के लिए दुआएं मांगती थी. इसलिए राजस्थान का करवा चौथ के मेले विश्वभर में मशहूर हैं.

तो आइये आज हम आपको बताते हैं कि कैसे आप इस करवा चौथ को हमेशा के लिए यादगार करवा चौथ बना सकते हैं-

यादगार करवा चौथ –

1. मर्द हैं तो व्रत का मजा आप भी लें

आपकी पत्नी अगर आपके लिए व्रत कर रही है तो आप भी उनके लिए व्रत रखकर, उनको ख़ास होने जैसा अहसास दिला सकते हैं. आप भी पूरा दिन बिना पानी लिए व्रत करें जो उनकी लम्बी उम्र के लिए हो.

2. इस ख़ास मौके पर खास उपहार

आपकी पत्नी अगर आपके लिए व्रत रख रही हैं तो आपका फर्ज है कि आप घर जाते समय उनके लिए कोई खास उपहार लेकर जाएँ. इससे आपकी पत्नी को यह अहसास होगा कि आप उनकी चिंता करते हैं.

3. एक सरप्राइज पार्टी मनायें

अब अगर आपके परिवार में तीन या चार औरतें करवा चौथ का व्रत कर रही हैं तो आप इन सभी के लिए एक सरप्राइज पार्टी का इंतजाम कर सकते हैं. ऐसा करने पर यह सभी काफी खुश होंगी.

4. पत्नी को कहीं बाहर डिनर पर ले जायें

अगर आप सिंगल अपनी पत्नी के साथ रहते हैं तो आप उनको करवा चौथ वाली रात को कहीं बाहर, अच्छी-सी उनकी पसंदीदा जगह पर डिनर के लिए ले जा सकते हैं.

5. घर पर उनके लिए बनायें भोजन

अच्छा होगा कि करवा चौथ के अवसर पर आप उनके लिए कोई अच्छी-सी डिश बनाकर उनको खिलायें. इससे उनको अहसास होगा कि उनके लिए आपके दिल में खास जगह है. यदि वह व्रत कर रही हैं तो उनके पति को इस बात की फिक्र भी है.

6. पूरा दिन उनके साथ रहें

आप करवा चौथ के दिन ऑफिस से छुट्टी लें और पूरा दिन उनके साथ रहें. इससे यह दिन उनके लिए यादगार हो जायेगा. आपकी पत्नी इस छोटे से आपके प्रयास से बेहद खुश होगी.

7. बच्चों को आप हैंडल करें

यदि आपके बच्चे हैं तो करवा चौथ पर आप अपने बच्चों के लिए नाश्ता बनायें, उनको स्कूल छोड़ने जाये. इस तरह से भी आप उनको खुश कर सकते हैं.

8. घर को खास तरह से सजायें

वैसे यह तो मुश्किल है कि मर्द घर सजा सकें फिर भी करवा चौथ पर आपको अपना घर सजाना चाहिए. यदि आप ऐसा करते हैं तो आपकी पत्नी इस दिन को हमेशा याद रखेंगी.

9. आप अपनी कोई बुरी आदत छोड़ दें

मर्दों को ऐसी कोई आदत जरुर होती है जिससे उनकी पत्नी दुखी रहती हैं. आप इस करवा चौथ पर अपनी पत्नी के सामने यह कसम लें कि आप उस आदत को छोड़ रहे हैं. इससे बड़ा उपहार उनके लिए कुछ और हो ही नहीं सकता है.

ये है करवा चौथ को यादगार करवा चौथ बनाने के तरीके – तो इस तरह से आप अपने इस करवा चौथ को यादगार करवा चौथ बना सकते हैं. निश्चित रूप से अगर आप इनमें से बतायें गये उपायों की मदद से कुछ प्लान करते हैं तो आपकी यह रात तो खास बनेगी ही साथ ही साथ यह करवा चौथ हमेशा के लिए यादगार करवा चौथ बन जायेगा.