8 Things Successful People Do Differently Than Others

Success is not overnight. It is in your very being, in your habits, in your everyday routine. It is boring hard work; it is not glamorous – it is sweat, sacrifice and self-control. One often wonders what is it that successful people do differently. Perhaps they sweat it out more; perhaps they put in more hours; perhaps they go that extra mile. While it’s true that they do put in more effort in the things they do, fact is their approach to life is different. As they say, success lies in the details. Here are 8 things successful people do differently than others.

1. They Take Criticism Positively

One thing that makes a man successful is his ability to take criticism. Improvement is the key to being the best, and successful people know that. Of course, there is a difference between constructive criticism and plain bitching. But successful people never miss a chance to hear constructive criticism and have mastered the art of not taking it personally. They respect feedback – good or bad – because that’s how you improve.

2. They Start Their Day On A Positive Note

No matter how shitty they feel about waking up to go to the same old boring job, they make sure to have their wits about them when they leave home. You can never do a good job in a grumpy mood. Of course, everyone is allowed to sulk sometimes but successful people know how to put aside their tensions and start every day on a positive note. Be it doing a little yoga, or listening to their favourite music while on their way to work, they make sure the happenings of the previous day don’t affect their present day.

3. They Take Care Of Their Health

No matter how talented you are, if you are not fit and healthy, you might not go too far.  Success requires hard work that is not only mentally taxing but physically straining too. Tim Cook, the CEO of Apple, starts his day as early as 4.30 a.m. and is a regular at the gym. Barack Obama is known to be a fitness freak and exercises 6 days a week. No matter how busy they are, successful people always take out time for exercise.

4. They Select Their Friendships Carefully

Successful people surround themselves with people who can inspire, encourage or influence them in positive ways. They make intellectual connections and form friendships based on them. This is not to say their friendships are non-emotional; they form close friendships that are nurturing.

5. They Are Not Afraid To Make Mistakes

How do you react when someone says you made a mistake? Defend yourself, justify the mistake, blame it on someone else, lash out at the person for pointing it out and make a mental note that you hate him? It’s all in the attitude – successful people make mistakes and own up to them. They are willing to take risks and are not afraid to say they got it wrong. One thing that always comes with success is failure. Anybody who has achieved success has experienced failure at some point in his life.

6. They Take Time Out To Enjoy

Too much work will burn you out before you know it and successful people know it all too well. Successful people work hard but they take time out to unwind. They respect their ‘me-time’ and know when to say no. Be it skipping overtime in office to go for a dinner with friends or taking a weekend off to go on a holiday every now and then, they make sure their work doesn’t kill their personal life. Because they respect the life outside a 9-to-5 job .

7. They Never Miss An Opportunity To Learn

You never stop learning and successful people treat the world as their teacher. Learning can come from anybody and at any time. There is so much wisdom in the world, a lifetime is not enough to absorb it all. Successful people are open to new things and always welcome opportunities to learn something new.

8. They Do Things Independently

One thing that sets apart winners is their self-dependency. They don’t hang around waiting for someone else to do the job. They learn how to do it and do it themselves. This does not mean they are not team players, but they’d rather do it themselves and do it well than have too many cooks spoil the broth. Be it watching a movie alone or going on a solo trip, they are not afraid to spend time with themselves.

Mere talent doesn’t guarantee success. It is an attitude, a trait that is practised repeatedly over a period of time that translates talent into success. Without the right attitude, even exceptional talent can go waste and end up in the pits. And with the right attitude, success can be tasted even in the absence of talent. Like the say, in order to be successful, you have to first become in personality the person you dream of becoming.

Easy Ways To Clean Your House For Diwali Festival

Cleaning house for Diwali – India with its endless traditions and customs is loaded with energy when it comes to celebrating festivals the way they want.

During September and October, it is the ideal opportunity for lights and hues, decorations and crackers, for it is Diwali time. Diwali, the celebration of lights is an opportunity to praise goodwill and success.

There are numerous stories surrounding this charming Indian celebration and it is intriguing to perceive how individuals get occupied with plans for this occasion. This is a period when people clean their homes furthermore give away stuff that is not required.

But sometimes, the path they follow is totally wrong. Yes, the way you clean up your house during Diwali is not really right because you are probably not following the right way. Don’t worry, we have figured it out for you we will give you some tips on Cleaning house for Diwali –

Tips for cleaning house for Diwali —

Start with the hall and the bedrooms

The Attic

Typically every house has a space or upper room on top or underneath the bed. Diwali is the time when one needs to recheck these areas. This is just like that extra cache in a PC which if not erased would harm your system. So start with cleaning the old garments, broken purses, projects by your children and all such things that nobody has used in past few years. Dump what you don’t need and keep what you require in an appropriate way.

Know the six-month rule

This rule simply tells you that you have to keep the things that you have used in previous six months. What you have not touched in the last quarter just leaves the house. You could utilize them for gift or you can even resell them on internet but just get away from it. Keep the winter garments, the formal outfits, old sarees, shoes and so on in an appropriate place.

Stow or store

This cleaning tip on Diwali has never failed the ones who have followed it rightly. Take what you require and what you don’t. Discard those shirts which you felt you would wear yet never did, the scarves which you felt you would require on an occasion yet never wore, and stow the unused things behind. Make an uncommon drawer for those endless extras.

Second Week – The Kitchen

Presently on to the second week and enter the center point of Indian food – the kitchen! One of the best tips on cleaning the house for Diwali is to figure out how to toss things out of the kitchen. Your culinary joys make the kitchen extremely oily and slick so break the kitchen cleaning in an effortless manner that cleans it up well and doesn’t take much of your time.

Apparatuses

Your kitchen apparatuses require a ton of support and consideration, so this Diwali check your machines and supplant the old ones with new. On the off chance that you have to repair them, do it. And if they are not valuable, give it away. Clean the smokestacks and the channels, and clean the fan of every appliance you own. Clean them with care. If possible, create a particular corner for all these appliances in kitchen.

Floors

Utilize cleanser and a sterile cream for swabbing the floor. Brush them with a decent brush with cleanser and water and scour them conscientiously spotless.

Some one of a kind tips for cleaning the house for Diwali:

  • Use white wine vinegar while cleaning stuff.

  • Use hand gloves before you begin cleaning.

  • Use a large portion of a lemon dunked in vinegar to clean the cooler.

  • Use daily papers to clean the glass surfaces and mirrors.

  • Change all the sheets, curtains and carpets in the house.

Advertisement

Since you have these tips for cleaning house for Diwali, a large portion of your work is done as such appreciate the best after effects of your diligent work through the four days of Diwali! Have a great festival ahead!

इस दीवाली पर ये मिठाइयाँ जो आपके स्वाद का जायका ही बदल देगी

दीपावली का त्यौहार हर किसी के जीवन को खुशियों से भर देता है।

यही एक ऐसा त्यौहार है, जिसके लिए लोग साल भर से इंतजार करते हैं। दीपावली पर बाजारों की रौनक देखते ही बनती है। लोगों को इस दिन नई – नई मिठाईयों, कपड़ों और पटाखों के लिए खासा उत्साहित होते हुए देखा जा सकता है।

आज हम आपको दीपावली पर कुछ ऐसी ही खास मिठाईयों के बारें में बताने जा रहे हैं, जिसे खाने के बाद आपके स्वाद का जायका ही बदल जाएगा और आपके स्वास्थ्य पर भी कोई असर नहीं पड़ेगा।

लेकिन ये दिवाली की मिठाइयाँ आपको पटाखों और दिये की शेप में मिलेगी।

दिवाली की मिठाइयाँ –

1. मूंग की दाल का लड्डू

इस समय मूंग की दाल के लड्डू मार्केट में काफी खरीदे जा रहे हैं। इसका स्वाद बेहद लाजवाब है और कीमत भी अन्य मिठाईयों की तुलना में बहुत ही कम। इसे शुगर के मरीज भी खा सकते हैं, क्योंकि इसमें चीनी की मात्रा सीमित होती है।

2. शुगर फ्री गुलाब जामुन और बर्फी

हर बार दीवाली पर मिठाईयों की दुकान पर कुछ अलग देखने को मिलता है। इस बार दुकानदार शुगर के बढ़ते मरीजों को ध्यान में रखते हुए शुगर फ्री गुलाब जामुन और बर्फी बना रहे हैं। इसे खरीदने के लिए लोगों की लंबी कतारें भी दुकान के बाहर देखीं जा सकती हैं।

 दिवाली की मिठाइयाँ

3. स्मार्टफोन वाली मिठाई

आजकल मिठाई विक्रेता मार्केट में अपनी पैठ जमाने और अपने खरीददारों के दिल में उतरने के लिए उनके टेस्ट और डिमांड को ध्यान में रखकर स्मार्टफोन की शेप वाली मिठाईयां बना रहे हैं। ये मिठाई खास खोया से बनाई गयी है और स्मार्टफोन की शेप होने से इसके खाने का मजा दोगुना हो गया है।

दिवाली की मिठाइयाँ

4. पटाखों वाली मिठाई

बच्चों को पटाखों से बेहद लगाव होता है, ऐसे में उन्हें खुश करने के लिए दुकानदार पटाखों की शेप वाली मिठाईयां बना रहे हैं। ये मिठाईयां लोगों को बहुत पसंद आ रही है। साथ ही शुगर फ्री होने के कारण इसकी काफी डिमांड बढ़ रही है।

दिवाली की मिठाइयाँ

5. चॉकलेट और पेस्ट्री भी कंपटीशन में

हमारी युवा पीढ़ी आज कल चॉकलेट और पेस्ट्री के पीछे इस कदर दीवानी हो गई है कि दुकानदारों ने इनकी शेप में मिठाईयां बनाना शुरू दिया है। इसे खरीदने के लोग काफी उत्सुक नजर आ रहे हैं।

दिवाली की मिठाइयाँ

ये है दिवाली की मिठाइयाँ – ये बताई हमने आपको इस दीवाली पर मार्केट में छाई खास मिठाईयां। तो आप भी अपने पसंदीदा स्मार्टफोन की तरह दिखने वाली मिठाइयां हाथ में लेकर धीरे-धीरे खाइए। साथ ही अपने नजदीकी दोस्तों को इन्हें गिफ्ट करना न भूलें।

100 साल बाद बना है इस करवा चौथ पर ये बेहद फलदाई संयोग !

पति की लंबी उम्र और सेहत के लिए वैसे तो हर साल महिलाएं करवा चौथ के पर्व को बड़े ही धूमधाम से मनाती हैं, लेकिन इस बार करवा चौथ का व्रत सुहागिन महिलाओं के लिए विशेष फलदायी साबित होनेवाला है क्योंकि करीब 100 साल बाद करवा चौथ पर खास संयोग बन रहा है.

KARVA

इस वर्ष करवा चौथ पर खास संयोग –

100 साल बाद बना करवा चौथ पर खास संयोग

इस बार करवा चौथ पर रोहिणी नक्षत्र, बुधवार का दिन, सर्वार्थ सिद्धि योग और गणेश चतुर्थी का संयोग बन रहा है. ज्योतिष शास्त्र के मुताबिक यह संयोग बेहद शुभ फलदायी माना जाता है.

इस दिन गणेश जी की पूजा का खास महत्व होता है. बात करें ग्रह नक्षत्रों की तो इस दिन चंद्रमा शुक्र की राशि वृष में उच्च के होंगे. बुध अपनी ही राशि कन्या में होंगे जबकि शुक्र और शनि एक साथ वृश्चिक राशि में विराजमान होंगे.

ज्योतिष शास्त्र के मुताबिक इस बार करवा चौथ का व्रत धारण करने से महिलाओं को 100 व्रतों का विशेष फल प्राप्त होगा. यह करवा चौथ न सिर्फ लंबी उम्र की सौगात देगा बल्कि संतान की कामना करनेवाले दंपत्तियों को संतान का सुख भी देगा.

करवा चौथ पर लग सकता है अपयश

इस बार एक ओर जहां करवा करवा चौथ पर खास संयोग का निर्माण हो रहा है तो वहीं शास्त्रों के अनुसार इस बार चांद को देखना अपयश का कारण भी बन सकता है. शास्त्रों के अनुसार करवा चौथ की तिथि और अपयश में गहरा संबंध बताया जाता है.

शास्त्रों में चतुर्थी तिथि को रिक्ता और खला कहा जाता है. इस दिन यानि चतुर्थी तिथि को शुभ कार्य वर्जित होते हैं.

कहा गया है कि चतुर्थी के दिन चंद्र दर्शन से अपयश और कलंक लग सकता है. खास तौर पर करवा चौथ को चंद्र दर्शन निषेध होता है.

अपयश को दूर करने के उपाय

करवा चौथ के दिन अपयश को दूर करने के लिए सबसे पहले भगवान गणेश के सामने घी का दीपक जलाना चाहिए. फिर उसके बाद लड्डुओं का भोग लगाकर ” वक्रतुंडाय हुं” मंत्र का 108 बार जप करना चाहिए.

फिर तांबे के लोटे में जल भरकर उसमें सफेद फूल डालकर नीची निगाह से चंद्रमा को अर्घ्य देना चाहिए. ऐसा करने से अपयश का दोष भंग हो जाता है, इसलिए महिलाएं इस दिन चंद्रमा को छन्नी या परछाईं में देखती हैं.

ऐसे बनाएं करवा चौथ को बेहद खास

अपने पति की लंबी उम्र के लिए जो महिलाएं करवा चौथ का व्रत करती हैं इससे न सिर्फ उनके पतियों को लंबी उम्र मिलती है बल्कि उन्हें अपने जीवन में किसी भी प्रकार का कष्ट नहीं होता है.

करवा चौथ के दिन भगवान शिव, माता पार्वती, कार्तिकेय, गणेश और चंद्रमा का पूजन किया जाता है. चंद्र उदय के बाद चंद्रमा को अर्घ्य देकर उनकी पूजा करनी चाहिए. पूजा के बाद मिट्टी के करवे में चावल, उड़द की दाल और सुहाग की सामग्री रखकर सास या सास के समकक्ष किसी सुहागिन के पैर छूकर सुहाग सामग्री भेंट करनी चाहिए.

यकीनन इस बार का करवा चौथ उन सभी महिलाओं के लिए यादगार साबित होनेवाला है जो अपने पति के लिए निर्जला व्रत धारण कर रही हैं,  क्योंकि 100 साल बाद बना करवा चौथ पर खास संयोग सभी महिलाओं के लिए खास फलदायक माना जा रहा है.

Karva Chauth: Back Then It Was A Festival To Celebrate The Bond Of Friendship Between The God-Sisters!

Karva Chauth is not exactly how it was in the past.

It is celebrated on the fourth day after the night of the full moon in the month of Karthik.

This festival is so popular that the girls who are unmarried have also adopted this ritual. If I’m not wrong then there are many unmarried ones who fast for their partner.

Whereas the married ones are also full of preparation to celebrate the long-hour fasting day.

Apart from this modern celebration; the originality of Karwa Chauth was completely different.

This festival was earlier started to celebrate the relationship between two women. Earlier, when a girl was married, she was bonded with another woman from her in-laws side and they were then declared as sisters or friends for the entire life. Well, based on the small Hindu ceremony both of ‘em was then the “God-sisters”or “God-friends” for life.

And the relationship for life meant that both of them will have to be together and support each-other if any trouble arises. Well, doesn’t matter if it is related to the in-laws; the relationship between them was something that was promise-able and unbreakable.

Hence, it was always in this manner but later the way of celebration changed and since then it is all about fasting for husbands.

So ladies, what seems easier? Past or Present.

Also, do you have any idea regarding how fasting by women increases the lifespan of husbands?

In reality, fasting improves the body from inside by making the cells, organs and tissues healthier. In short, it highly results into detoxifying the entire body by keeping liver, kidney etc all safe and healthy. The fasting also increases the reproductive longevity and the lifespan of women.

I know, now this might question how does it reflects into increasing the lifespan of husband.

Well, it’s quite simple too- the ancient Indians started this custom of fasting with a great thought. If a reproductive longevity in women increases then it results into increasing the potential for more sexual stamina.

And once the sexual stamina in women increases then this benefit the men and thus it boost up their lifespan entirely. (Smart, isn’t it?)

Therefore based on this logic the concept of fasting during Karva Chauth benefits both of them equally.

Any queries? Leave a comment below.

9 बातें जो आपकी करवा चौथ को हमेशा के लिए यादगार बना देंगी!

करवा चौथ, उत्तर भारत में मनाया जाने वाला एक बड़ा तीज-त्यौहार है.

वैसे बताया जाता है कि करवा चौथ सबसे अधिक राजस्थान में मनाया जाता है. राजस्थान में राजा-महाराजा सबसे अधिक युद्ध में लीन रहते थे और रानियाँ राजाओं की सलामती के लिए दुआएं मांगती थी. इसलिए राजस्थान का करवा चौथ के मेले विश्वभर में मशहूर हैं.

तो आइये आज हम आपको बताते हैं कि कैसे आप इस करवा चौथ को हमेशा के लिए यादगार करवा चौथ बना सकते हैं-

यादगार करवा चौथ –

1. मर्द हैं तो व्रत का मजा आप भी लें

आपकी पत्नी अगर आपके लिए व्रत कर रही है तो आप भी उनके लिए व्रत रखकर, उनको ख़ास होने जैसा अहसास दिला सकते हैं. आप भी पूरा दिन बिना पानी लिए व्रत करें जो उनकी लम्बी उम्र के लिए हो.

2. इस ख़ास मौके पर खास उपहार

आपकी पत्नी अगर आपके लिए व्रत रख रही हैं तो आपका फर्ज है कि आप घर जाते समय उनके लिए कोई खास उपहार लेकर जाएँ. इससे आपकी पत्नी को यह अहसास होगा कि आप उनकी चिंता करते हैं.

3. एक सरप्राइज पार्टी मनायें

अब अगर आपके परिवार में तीन या चार औरतें करवा चौथ का व्रत कर रही हैं तो आप इन सभी के लिए एक सरप्राइज पार्टी का इंतजाम कर सकते हैं. ऐसा करने पर यह सभी काफी खुश होंगी.

4. पत्नी को कहीं बाहर डिनर पर ले जायें

अगर आप सिंगल अपनी पत्नी के साथ रहते हैं तो आप उनको करवा चौथ वाली रात को कहीं बाहर, अच्छी-सी उनकी पसंदीदा जगह पर डिनर के लिए ले जा सकते हैं.

5. घर पर उनके लिए बनायें भोजन

अच्छा होगा कि करवा चौथ के अवसर पर आप उनके लिए कोई अच्छी-सी डिश बनाकर उनको खिलायें. इससे उनको अहसास होगा कि उनके लिए आपके दिल में खास जगह है. यदि वह व्रत कर रही हैं तो उनके पति को इस बात की फिक्र भी है.

6. पूरा दिन उनके साथ रहें

आप करवा चौथ के दिन ऑफिस से छुट्टी लें और पूरा दिन उनके साथ रहें. इससे यह दिन उनके लिए यादगार हो जायेगा. आपकी पत्नी इस छोटे से आपके प्रयास से बेहद खुश होगी.

7. बच्चों को आप हैंडल करें

यदि आपके बच्चे हैं तो करवा चौथ पर आप अपने बच्चों के लिए नाश्ता बनायें, उनको स्कूल छोड़ने जाये. इस तरह से भी आप उनको खुश कर सकते हैं.

8. घर को खास तरह से सजायें

वैसे यह तो मुश्किल है कि मर्द घर सजा सकें फिर भी करवा चौथ पर आपको अपना घर सजाना चाहिए. यदि आप ऐसा करते हैं तो आपकी पत्नी इस दिन को हमेशा याद रखेंगी.

9. आप अपनी कोई बुरी आदत छोड़ दें

मर्दों को ऐसी कोई आदत जरुर होती है जिससे उनकी पत्नी दुखी रहती हैं. आप इस करवा चौथ पर अपनी पत्नी के सामने यह कसम लें कि आप उस आदत को छोड़ रहे हैं. इससे बड़ा उपहार उनके लिए कुछ और हो ही नहीं सकता है.

ये है करवा चौथ को यादगार करवा चौथ बनाने के तरीके – तो इस तरह से आप अपने इस करवा चौथ को यादगार करवा चौथ बना सकते हैं. निश्चित रूप से अगर आप इनमें से बतायें गये उपायों की मदद से कुछ प्लान करते हैं तो आपकी यह रात तो खास बनेगी ही साथ ही साथ यह करवा चौथ हमेशा के लिए यादगार करवा चौथ बन जायेगा.

Dad, I Don’t Want To Be An Engineer!

I was always told to win even if the race was not of my choice.

~Voice of an ordinary guy.

I started to understand the meaning of a ‘race’ even when my existence was under the shadow of a big question mark(?). Which sperm will win the race? The first thing which arises after administering a hot beef injection. You know what I mean, right?

The ‘race’ between human sperm to the eggs is even faster than a 100-meter race. Fortunately, I ran like Bolt and won the race among 250 million sperm cells. Yes, you heard it right 250 million. After all, I was the cleverest sperm between them. Aww! My poor two hundred forty-nine million nine hundred ninety-nine thousand nine hundred ninety-nine brothers. I feel sorry for you. But, it’s not my fault. I was always taught that life is like a race and if you don’t run fast, you’ll be like a broken egg which has no life.

This is how the race starts and continues to affect our life.

Freedom of choice and decision making.

Freedom of choice and decision making.

There have been 7.4 billion people to walk the planet up until the present. The problem isn’t that life is unfair, but the freedom is still caged. Everyone talks about ‘Freedom of speech and expression’ but no one takes courage to speak in the context of ‘Freedom of choice and decision making.’ After all, it will start raising the question to one’s own blood, and no one on Earth can handle that.

Some parents want to live through their kids.

Some parents want to live through their kids.

Some parents want to fulfill their unfulfilled ambitions through their children. But, is it right to do so? Living the life of someone’s desires by compromising your dream is like eating a hot iron rod with a smile. At last, you will only remain with one option, and that is ‘pain.’

Always follow your inner voice.

Always follow your inner voice.

Always follow your inner voice. Have the courage to go where your heart leads you. Don’t allow anyone to take control over your life, forcing you along a path. Your decision may be good or bad. Things may become a bit worse even than before. But remember even in the most troublesome surroundings, the grateful heart finds peace. A Son’s open letter to his father which will change the parent’s perception regarding their children education.

Dear Dad,

Dear Dad,

There are so many things I’d like to tell you face to face, but I don’t have such courage to do so. I love you, Dad! With your guidance and support, this little toddler had become more mature than before. I lack the words not because of fear but because of respect. You’re always my best mentor. An idol who taught me how to be a gentleman.

Many times I argued with you not because I’m right but because I’m unable to believe myself as ‘wrong.’ Even, I’m entirely wrong at that point in time. I sincerely apologize, Dad! I’m sorry…

I may not have been the perfect son!

I may not have been the perfect son!

I may not be the perfect son, but I’m doing the best I can. I always disappoint you by my numbers. But you always encouraged me by your words. I still remember that punchy lines of yours “Son, the word impossible is not in my dictionary.” Dad, I too started using it with time.

You’re my Steve Jobs, and I’m your apple. Each and every day you’re making me a better person.

You're my Steve Jobs, and I'm your apple. Each and every day you're making me a better person.

 You are God’s best gift to me, Dad.

You are God's best gift to me, Dad.

I still remember the memories of my childhood days when we’re going through the tough times of our lives, and still, you managed to make our home a happy place.

With all due respect and love, Dad I want to talk to you regarding my career. For once in your life, I’m requesting you please just listen to me. Please!

 Dad, I don’t want to be an engineer.

 Dad, I don't want to be an engineer.

Dad, I don’t want to be an engineer. I never wanted to be.

Fish is meant to swim not to fly. Similarly, I love to write rather than solving equations right. I’m caged in a prison of your choice. I don’t want to be an engineer ‘This is my inner voice.’

I may end up being a beggar because of my choice, but I can’t become a millionaire.

I write not to earn high, but it gives me a kind of peace and satisfaction which is beyond everyone’s eye.

I don’t have wings, but I will fly.

I don't have wings, but I will fly.

I don’t have wings, but I will fly. I don’t want to be an engineer. This is my choice.

I don’t want to disappoint you again, but believe me, I can play better with words rather than screw drives.

I may not live a lavish life, but again I don’t regret if it’s my choice.

The Moon will set again and then the Sun will again rise.

I may fall 10 times, but I will stand up again and rise.

I’m not among them, and I can only be thankful to you both.

I'm not among them, and I can only be thankful to you both.

Your son may be not the reason for your pride, but your son will be a good human being till the end of his life.

I request you, please don’t force me to become an engineer of your choice.

You’re my dad, not Hitler who did Holocaust genocide.

Dad, I beg you to give me back my ‘freedom of choice.’

Dad, I don’t want to be an engineer.

Dad, I don’t…

Dad, I don't...

Are your parents supportive when it comes to career choice?

कभी खुशी कभी गम’ मूवी की छोटी करीना हुई जवान, सोशल मीडिया पर उनका हॉट और बोल्ड लुक हो रहा हैं वायरल

बॉलीवुड एक्ट्रैस करीना कपूर ने हाल ही में अपना 36वां बर्थडे सेलिब्रेट किया। वैसे तो करीना कई हिट फिल्मों में काम कर चुकी हैं लेकिन फिल्म कभी खुशी कभी गम में उनका काम काफी पंसद किया गया और स्पैशिली उनके बचपन का रोल काफी चर्चित रहा…

 

बता दें कि यह रोल मालविका ने प्ले किया था। 300 लड़कियों में मालविका राज को सिलेक्ट किया गया था।

 

 

कभी खुशी कभी गम’ को रिलीज हुए 15 साल बीत चुके हैं। 14 दिसंबर, 2001 को रिलीज हुई अमिताभ-जया, शाहरुख खान-काजोल और ऋतिक-करीना स्टारर इस फैमिली एंटरटेनर ने दर्शकों की वाहवाही बटोरी थी।

 

 

K3G में करीना कपूर के बचपन का रोल मालविका राज ने प्ले किया था। इन 15 सालों में उनके लुक में काफी बदलाव आ गए हैं।

 

 

 

 

 

टीवी शो रामायण की सीता पहले दे चुकी हैं इन बी-ग्रेड फिल्मों में बोल्ड सीन !

1987 से 1988 के बीच के पॉपुलर हुए पौराणिक शो ‘रामायण’ के एक्टर्स में लोग रियल देवी-देवताओं की छवि देखने लगे थे। खासकर राम का रोल करने वाले अरुण गोविल और सीता का रोल करने वालीं दीपिका चिखलिया की तो लोग पूजा तक करने लगे थे। दीपिका ने एक इंटरव्यू में बताया था कि रामलीला देखते-देखते उन्हें एक्टिंग का शौक जागा।

 

29 अप्रैल 1965 को जन्मी दीपिका ‘रामायण’ में आने से पहले कई फिल्मों में काम किया। वे ‘भगवान दादा’ (1986), ‘रात के अंधेर में’ (1987), ‘खुदाई’ (1994), ‘सुन मेरी लैला’ (1985), ‘चीख’ (1986), ‘आशा ओ भालोबाशा’ (बंगाली, 1989) और ‘नांगल’ (तमिल, 1992) में बतौर एक्ट्रेस नजर आईं। इनमें से ज्यादातर फिल्में बी-ग्रेड थीं।

 

 

दीपिका ने हेमंत टोपीवाला से शादी की, जो श्रृंगार बिंदी और टिप्स एंड टोज नेलपॉलिश के ओनर हैं। दीपिका और हेमंत की दो बेटियां हैं निधि टोपीवाला और जूही टोपीवाला।

 

 

मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो दीपिका ने शादी के बाद अपना सरनेम चेंज कर लिया है और अब वे हसबैंड की कंपनी की मार्केटिंग टीम की हेड हैं।

 

 

 

विज्ञापन की बदौलत ये कलाकार रातों रात बन गए स्टार !

किस्मत हैं भाई !

अगर किस्मत साथ हो तो किसी भी मुसीबत को हरा कर अपनी मंज़िल को हासिल किया जा सकता है. हम मेहनत को कम नहीं मानते लेकिन किस्मत को भी छोटा समझने की गलती नहीं करते. कुछ ऐसा ही हुआ है इन कलाकारों के साथ. आज इन लोगों को पूरा देश जानता है. आप सोच रहे होंगे कि ऐसा क्या कर दिया है इन लोगों ने? तो हम आपको बता दें कि ये कलाकार विज्ञापन के ज़रिए बन गए स्टार….

साशा क्षेत्री

आपने एयरटेल का 4G वाला विज्ञापन तो देखा ही होगा. उसमे दिखने वाली लीड ऐक्ट्रेस का नाम साशा क्षेत्री है. एयरटेल के इस कैंपेन ने उन्हें स्टार बना दिया है. सोशल मीडिया पर उनके चर्चे हैं. पेशे से सिंगर साशा ने मुंबई के ज़ेवियर्स इंस्टीट्यूट ऑफ कम्युनिकेशन्स से एडवरटाइज़िंग की पढ़ाई की है. ब्रॉडकास्ट ऑडिएंस रिसर्च काउंसिल इंडिया (बीएआरसी) के मुताबिक 19 सितंबर से 20 नवंबर 2015 तक साशा छेत्री पर फिल्माया गया एयरटेल 4G का विज्ञापन 54,406 बार दिखाया गया, यानी कुल 17,08,586 सेकेंड के लिए ये विज्ञापन को लोगों ने देखा. इसका मतलब निकलता है कि वह टीवी पर करीब 475 घंटों के लिए थीं. इन घंटों ने जैसे उनकी ज़िंदगी बदल दी और आज वो एक सेलेब हैं.

विशाल मलोहत्रा

क्रिकेट वर्ल्ड कप के दौरान मौका-मौका विज्ञापन ने धूम मचा दी थी. लेकिन ये सिर्फ़ भारतीय टीम के लिए नहीं बल्कि विशाल के लिए एक सुनहरे मौके जैसा था. भारतीय टीम तो वर्ल्ड कप से बाहर हो गई लेकिन विशाल ने इस मौके को दोनों हाथों से पकड़ा और इस विज्ञापन ने उन्हें रातों रात स्टार बना दिया. दिल्ली के रहने वाले विशाल ने एमिटी से सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग की पढ़ाई की है, लेकिन इस विज्ञापन के हिट होने के बाद अब वो एक्टिंग की तरफ़ ही ध्यान दे रहे हैं.

करन लुनन

20वें दशक में लिरिल साबुन बड़ा ब्रैंड बन कर सामने आया, जिसमें सबसे बड़ा हाथ रहा करन लुनन का. लिरिल के विज्ञापन में टू-पीस पहने झरने में नहाती लड़की ने जैसे विज्ञापन दुनिया में आग लगा दी थी. रातों रात लिरिल की सेल कई गुना बढ़ गई थी. इस विज्ञापन के बाद भी इस कंपनी ने कई बार ऐसे विज्ञापन बनाए लेकिन उसमें दिखाई गई मॉडल्स करन को टक्कर नहीं दे पाईं. एक बार फ़िर हिंदुस्तान यूनीलिवर ने लिरिल साबुन को लॉन्च करने के लिए इसी हॉट ऐड को चुना है. यानि लिरिल गर्ल वापस आ रही है.

कविता चौधरी सर्फ में ललिता जी का किरदार निभाने वाली उस महिला को कौन भूल सकता है. बड़ी-बड़ी ऐड एजेंसियां मानती हैं कि सर्फ डिटरजेंट को घर-घर पहुंचाने में एक्ट्रेस ललिता जी का बहुत बड़ा रोल रहा है. इस ऐड ने ललिता जी यानी कविता चौधरी को भारत में फेमस कर दिया था. इससे पहले ललिताजी की पहचान टीवी सीरियल उड़ान के आईपीएस ऑफिसर के रूप में होती थी. हालांकि, उन्होंने 1970 से 80 के दशक में बॉलीवुड की कई फिल्मों में काम किया. विज्ञापन एजेंसी लिंटास के मुताबिक इस ऐड ने बहुत ही कॉमन फ़ेस वाली भारतीय महिला ‘ललिता जी’ को फेमस बना दिया. इस तरह सर्फ भी एक ब्रांड बन गया.

नीरू देशपांडे

विज्ञापन से बने स्टार्स की बात हो और ऐसे में पार्ले-जी बिस्कुट की बात न हो, ये कैसे हो सकता है. देश की सबसे ज़्यादा बिकने वाले इस बिस्कुट के पैकेट पर बनी बच्ची का नाम है नीरू देशपांडे. जब इस पैक को डिज़ाईन किया गया था तब नीरू की उम्र 4 साल थी और आज वो 60 साल की हैं. कई लोग मानते हैं कि नीरू की इस तस्वीर ने पार्ले-जी को एक ब्रैंड बना दिया है.

यामी गौतम

फेयर एंड लवली के विज्ञापन से यामी गौतम की ज़िंदगी बदल गई. इस विज्ञापन में इनकी खूबसूरती का ऐसा जादू चला कि बॉलीवुड तक का सफ़र इन्होंने तय कर लिया. आज ये एक स्टार हैं और कई जवां दिलों की धड़कन. आज भी यामी को आप इस विज्ञापन में देख सकते हैं.

सैयामी खेर

मॉडलिंग में अपनी खूबसूरती का लोहा मनवाने के बाद सियामी ने विज्ञापन की दुनिया में कदम रखा, जहां उन्हें Levis, Pantaloons, L’oreal, Idee Eyewear जैसे बड़े ब्रैंड के साथ काम किया और आज उन्हें राकेश ओमप्रकाश मेहरा की आने वाली फ़िल्म मिर्ज़या में लीड रोल मिला है